দেশ

लोको बोदरा की १००वीं जयंती मनाई गई

लाला जबीन, जमशेदपुर : “हो भाषा” के जनक लोको बोदरा की १०० वीं जयंती समारोह मनाया गया। इस मौके पर “रन फॉर वरंण्ड क्षिति” कार्यक्रम आयोजित की गई। जिसमें “हो”भाषा के शोधकर्ता लोको बोदरा के सपने को साकार करने और “वरंण्ड क्षिति लिपि” को जन जन तक पहुंचाने की शपत ली गई। पिछले कुछ वर्षों में ऐसी कई भाषाएं विलुप्त हो चुकी है, जिसके कारण भारतीय व आदिवासी कला-संस्कृति धीरे धीरे खत्म होते जा रही है। इन समस्याओं को ध्यान में रखते हुए लोगों ने “हो” भाषा को बढ़ावा देने के लिए “रन फॉर वरंण्ड क्षिति” के माध्यम से अपने मातृभाषा (‘हो’ भाषा) का महत्व, आदिवासी संस्कृति को बचाए रखने एवं सभी स्कूल-कॉलेजों के पाठ्यक्रम में शामिल करने की मांग की गईं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *